अब बिहार में कांग्रेस ने बढ़ाई राजद की मुश्किलें, नीतीश के जाने के बाद बढ़ी सीटों की डिमांड

97
Congress demanded 15 seats from RJD.
Congress demanded 15 seats from RJD.

Bihar: नीतीश कुमार के महागठबंधन छोड़कर एनडीए में शामिल होने के बाद बिहार में राजनीतिक हालात काफी बदल गए हैं. अब एनडीए के साथ-साथ महागठबंधन में भी नए सिरे से सीटों के बंटवारे की कोशिश की जा रही है. नीतीश कुमार के महागठबंधन छोड़ने के बाद अब कांग्रेस ने लोकसभा सीटों की मांग तेज कर दी है.

अब तक कांग्रेस राज्य से 10 लोकसभा सीटों की मांग कर रही थी, लेकिन अब पार्टी अपने लिए और सीटें मांग रही है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह का कहना है कि सीट बंटवारे के मुद्दे पर 15 फरवरी के बाद फैसला होने की संभावना है.

कांग्रेस की ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी

राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा की तैयारियों की कमान संभालने बिहार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह मंगलवार को औरंगाबाद पहुंचे. यहां मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि महागठबंधन में सीटों के बंटवारे पर जल्द ही फैसला लिया जाएगा ताकि विभिन्न दलों और उम्मीदवारों को चुनाव की तैयारी का मौका मिल सके.

उन्होंने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस 10 सीटों पर चुनाव लड़ी थी, लेकिन इस बार पार्टी ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है. प्रदेश कांग्रेस नेताओं के साथ पार्टी आलाकमान की बैठक के दौरान भी प्रदेश नेताओं ने 10 सीटों पर चुनाव लड़ने की बात कही थी, लेकिन नीतीश कुमार के महागठबंधन छोड़ने के बाद कांग्रेस की मांग बढ़ गई है.

कांग्रेस पिछले चुनाव से ज्यादा सीटें मांग रही है

Lalu Prasad Yadav is the National President of RJD
Lalu Prasad Yadav is the National President of RJD

कांग्रेस की मांग बढ़ने से राजद नेतृत्व की मुश्किलें बढ़ गई हैं और देखना होगा कि राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव इस मुद्दे पर क्या फैसला लेते हैं. अब तक कांग्रेस 2019 के सीट शेयरिंग फॉर्मूले के आधार पर राज्य में नौ-दस सीटों की मांग कर रही थी, लेकिन अब कांग्रेस ने राजद नेतृत्व पर पिछले चुनाव से ज्यादा सीटें देने का दबाव बनाना शुरू कर दिया है. महागठबंधन में शामिल वाम दल भी अधिक सीटों की मांग कर रहे हैं और इससे राजद नेतृत्व की मुश्किलें बढ़ गई हैं.

सीट बंटवारे पर फैसला 15 तारीख के बाद होगा

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि हमें उम्मीद है कि 15 फरवरी के बाद महागठबंधन में सीटों का बंटवारा हो जाएगा. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के अभी भी महागठबंधन में रहने के कारण उन्हें सीट बंटवारे में दिक्कत आ रही है. अब उनके बाहर निकलने के बाद जल्द ही इस संबंध में फैसला लिया जाएगा. उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विश्वास मत पर चर्चा करते हुए कहा कि इस बार उनके मुख्यमंत्री रहते ही उनकी पार्टी टूट गयी. सरकार बचाने के लिए सत्ता पक्ष की ओर से कई विधायकों को प्रलोभन भी दिया गया.

बिहार की जनता नीतीश को सबक सिखाएगी

कांग्रेस नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बार-बार पाला बदल रहे हैं और आने वाले चुनाव में राज्य की जनता नीतीश कुमार को सबक सिखाएगी. उन्होंने कहा कि राज्य की जनता नीतीश कुमार के बार-बार पलटी मारने और गिरगिट की तरह रंग बदलने से पूरी तरह वाकिफ है और इसलिए राज्य की जनता उन्हें सबक सिखाने के लिए तैयार है. उन्होंने कहा कि बिहार में महागठबंधन पूरी एकता और ताकत के साथ चुनाव लड़ेगा और एनडीए गठबंधन को ध्वस्त करने का काम करेगा.

उन्होंने कहा कि महागठबंधन सरकार के दौरान तेजस्वी यादव कांग्रेस के सहयोग से अच्छा काम कर रहे थे. उन्होंने राज्य के युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में ठोस कदम उठाये.

उनके दबाव के कारण ही बिहार के लाखों युवाओं को रोजगार देने में सफलता मिल रही है लेकिन नीतीश कुमार को यह बात हजम नहीं हो रही है. उन्होंने महागठबंधन की सरकार गिरा दी. अब आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार को अपनी हैसियत और ताकत का पता चल जायेगा.

देश-विदेश से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए BarwaSukhdav.com पर विजिट करते रहें।

Previous articleTATA Scholarship : 12वीं पास छात्रा को मिली 3 करोड़ की टाटा स्कॉलरशिप, आप भी कर सकते है अप्लाई।
Next articleस्टार्टअप ने जुटाई ₹83 करोड़ की फंडिंग, जानें कंपनी का बिजनेस और भविष्य का प्लान