Turkey Syria Earthquake न्यूज़ अपडेट

494
Turkey Syria Earthquake News Updates
Turkey Syria Earthquake News Updates

Turkey Syria Earthquake News Updates: तुर्की-सीरिया भूकंप में 8300 से ज्यादा मौतें, 11 हजार इमारतें गिरीं, रेस्क्यू में 55 हजार बचावकर्मी जुटे।

तुर्की में 3 महीने तक इमरजेंसी का ऐलान किया गया है। यहां सभी स्कूलों को 13 फरवरी तक बंद कर दिया गया। इतना ही नहीं सभी सरकारी इमारतों को शेल्टर होम बनाया गया है। तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब इरदुगान ने बताया कि अब तक 70 देश और 14 अंतरराष्ट्रीय संगठन मदद के लिए आगे आए हैं। उन्होंने कहा कि यह तुर्की ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया के लिए बड़ी आपदा है। तुर्की में 10000 कंटेनर को शेल्टर बनाने की तैयारी की गई है।

Turkey Syria Earthquake News Updates

Turkey Syria Earthquake News
Turkey Syria Earthquake

तुर्की और सीरिया में सोमवार को आए शक्तिशाली भूकंप से अब तक 8300 लोगों की मौत हो चुकी है। तुर्की में 5,894 लोगों ने अपनी जान गंवाई है, जबकि 34,810 लोग घायल हैं। वहीं सीरिया में 2100 लोगों की जान गई है। तुर्की और सीरिया में भूकंप से करीब 11000 इमारतें तबाह हो गई हैं. तुर्की में 8000 लोगों का रेस्क्यू किया जा चुका है। यहां 55000 से ज्यादा बचावकर्मी रेस्क्यू में जुटे हुए हैं।

अब तक 8300 की मौत

तुर्की और सीरिया में अब तक भूकंप से 8300 लोगों की मौत हो चुकी है। 11 हजार से ज्यादा इमारतें तबाह हुई हैं। इतना ही नहीं दोनों देशों में 55000 से ज्यादा बचावकर्मी रेस्क्यू में जुटे हैं।

तुर्की में ऐतिहासिक इमारतें तबाह

भूकंप में तुर्की की ऐतिहासिक मस्जिद भी तबाह हो गई। तुर्की के मालाटया शहर में स्थित यह ऐतिहासिक येनी कैमी (Yeni Camii) मस्जिद खंडहर में तब्दील हो गई। यह मस्जिद 100 साल से अधिक पुरानी थी लेकिन भूकंप से यह तहस-नहस हो गई है। इससे 100 सालों का इतिहास जुड़ा हुआ है, जो अब मलबे में दब गया।

मेक्सिको के डॉग कर रहे रेस्क्यू

मेक्सिको के चर्चित रेस्क्यू डॉग तुर्की में मलबों में इंसानों की तलाश में मदद कर रहे हैं। मेक्सिको अपने ट्रेन्ड और विशेष खोजी कुत्तों के लिए जाना जाता है। उत्तरी अमेरिकी टेक्टोनिक प्लेट के किनारे है, ऐसे में यहां भी भूकंप आता रहता है। मेक्सिको में अक्सर कुत्तों का इस्तेमाल रेस्क्यू अभियान में किया जाता है। 16 कुत्तों की टीम मेक्सिको से रेस्क्यू के लिए तुर्की पहुंची है।

बर्फबारी और खराब मौसम रेस्क्यू में चुनौती

तुर्की में बर्फबारी भी जारी है। ऐसे में यहां रेस्क्यू अभियान में काफी दिक्कत हो रही है। इतना ही नहीं खराब मौसम के चलते हेलिकॉप्टर की भी लैंडिंग नहीं हो पा रही है। ऐसे में तमाम मदद प्रभावित इलाकों में सड़क के रास्तों से पहुंच रही है। भूकंप से तुर्की-सीरिया कॉरिडोर भी तबाह हो गया है। ऐसे में सड़क के रास्ते सीरिया तक मदद नहीं पहुंच पा रही है।

20 हजार से लोगों के मारे जाने की आशंका – WHO

WHO ने तुर्की और सीरिया में मौत का आंकड़ा बढ़ने की आशंका जताई है। WHO ने तुर्की और सीरिया में 20 हजार से ज्यादा लोगों के मारे जाने की आशंका जताई है। इतना ही नहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि दोनों देशों में 2.3 करोड़ लोग इससे प्रभावित हो सकते हैं।

तुर्की में सरकारी इमारतों को शेल्टर होम बनाया गया

तुर्की में 3 महीने तक इमरजेंसी का ऐलान किया गया है। यहां सभी स्कूलों को 13 फरवरी तक बंद कर दिया गया। इतना ही नहीं सभी सरकारी इमारतों को शेल्टर होम बनाया गया है। तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब इरदुगान ने बताया कि अब तक 70 देश और 14 अंतरराष्ट्रीय संगठन मदद के लिए आगे आए हैं। उन्होंने कहा कि यह तुर्की ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया के लिए बड़ी आपदा है। तुर्की में 10000 कंटेनर को शेल्टर बनाने की तैयारी की गई है।

तुर्की में सोमवार को आया था 7.8 तीव्रता का भूकंप

तुर्की में सोमवार सुबह 04:17 बजे भूकंप आया था। इसकी गहराई जमीन से 17.9 किलोमीटर अंदर थी। भूकंप का केंद्र गाजियांटेप के पास था। यह सीरिया बॉर्डर से 90 किमी दूर स्थित है। ऐसे में सीरिया के कई शहरों में भी भूकंप के तेज झटके महसूस किए। यह तुर्की में 100 साल में सबसे तीव्रता वाला भूकंप बताया जा रहा है। US Geological Survey के मुताबिक, भूकंप के बाद 77 झटके लगे। इनमें से एक झटका 7.5 तीव्रता का था। जबकि तीन झटके 6.0 तीव्रता से अधिक थे।

देश-विदेश से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए BRSHindi पर विजिट करते रहें।

Previous articleAyushman Bharat Yojana : आयुष्‍मान कार्ड होने पर भी नहीं मिल रहा मुफ्त इलाज! तो कर सकते हैं शिकायत
Next articleMoto E13: मोटो का धांसू स्मार्टफोन जल्द ही बाजार में उतारा जाएगा