राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ नक्सल हमले पर उठाए सवाल, कहा- ‘अगर खुुफिया नाकामी नहीं है तो इसका मतलब…’

973

राहुल गांधी ने नक्सली हमले खुफिया नाकामी की बात करते हुए आरोप लगाया कि सीआरपीएफ के नक्सल-विरोधी ऑपरेशन की योजना सही ढंग से नहीं बनाई गई थी और ऑपरेशन का कार्यान्वयन भी अच्छी तरह से नहीं किया गया.

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सोमवार को छत्तीसगढ़ में हुए नक्सली हमले को लेकर आरोप लगाया कि सीआरपीएफ के नक्सल-विरोधी ऑपरेशन की योजना सही ढंग से नहीं बनाई गई थी. उन्होंने यह भी कहा कि इस ऑपरेशन का कार्यान्वयन भी अच्छी तरह से नहीं किया गया. शनिवार को छत्तीसगढ़ के बीजापुर-सुकमा बॉर्डर पर हुए माओवादी हमले में सीआरपीएएफ के 22 जवान शहीद हो गए थे, वहीं 31 जवान घायल हैं और एक जवान लापता है.

सीआरपीएएफ के डायरेक्टर जनरल कुलदीप सिंह ने एक बयान दिया था कि यह घटना इंटेलीजेंस फेलियर की वजह से नहीं हुई है. इसपर राहुल गांधी ने सोमवार को ट्विटर पर उनके बयान की न्यूज क्लिपिंग का स्क्रीनशॉट को शेयर करते हुए सवाल उठाया था. उन्होंने कहा कि ‘अगर यह किसी तरह का इंटेलीजेंस फेलियर नहीं था तो मौतों का 1:1 अनुपात दिखाता है कि ऑपरेशन की योजना ढंग से तैयार नहीं हुई थी और इसका कार्यान्वयन भी अयोग्यतापूर्ण था. हमारे जवान तोपों की बारूद नहीं हैं कि उन्हें मर्जी पर शहीद होने के लिए भेज दिया जाए.’

कुलदीप सिंह रविवार को हालात का जायजा लेने के लिए छत्तीसगढ़ गए थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि हमले में लगभग 30 माओवादियों को भी मार गिराया गया है और हमले के पीछे इंटेलीजेंस या ऑपरेशन फेलियर वजह नहीं है.
उन्होंने न्यूज एजेंसी ANI से कहा कि ‘इंटेलीजेंस या ऑपरेशनल फेलियर की बात करने का कोई मतलब नहीं है. अगर गलत इंटेल होता तो सुरक्षाबल इस ऑपरेशन के लिए गया ही नहीं होता. और अगर ऑपरेशन में कुछ कमी होती तो इतने नक्सलवादी नहीं मारे जाते.’

अधिकारियों ने बताया कि इस मुठभेड़ में शहीद हुए 22 जवानों में सीआरपीएफ के आठ जवान शामिल हैं, जिसमें से सात कोबरा कमांडो से जबकि एक जवान बस्तरिया बटालियन से है. शेष डीआरजी और विशेष कार्यबल के जवान हैं. उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ के एक इंस्पेक्टर अब भी लापता हैं. जानकारी है कि माओवादियों ने इस इलाके में सुरक्षाबलों के जवानों को तीन तरफ से घेर लिया था और कई घंटों तक उनपर मशीनगन और IED से हमला करते रहे.

Previous articleछत्तीसगढ़ नक्सली हमला : 400 नक्सलियों ने 3 तरफ से CRPF जवानों को घेर कर बनाया था टारगेट
Next articleImmunity Booster Drink: गर्मियों में अपनी इम्यूनिटी पावर को बढ़ाने के लिए कारगर हैं ये समर ड्रिंक्स, रोजाना एक गिलास पिएं!