यूपी: चार चरण में होंगे पंचायत चुनाव, 15 अप्रैल को होगा पहले दौर का मतदान, आचार संहिता लागू

1037
यूपी पंचायत चुनाव 2021

सार

  • उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में चार चरणों में होंगे पंचायत चुनाव।
  • 15 अप्रैल, 19 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को होगा चुनाव।
  • 2 मई को होगी पंचायत चुनाव के नतीजों की घोषणा।
  • 14 जिलों के एसपी व एसएसपी बदले गए। 8 रेंज में भी हुआ बदलाव।

विस्तार

प्रदेश में बहुप्रतीक्षित त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की डुगडुगी बज गई है। प्रदेश के सभी 75 जिलों में चार चरणों में पंचायत चुनाव कराए जाएंगे। मतदान पहले चरण में 15 अप्रैल को, दूसरे चरण में 19, तीसरे चरण में 26 और चौथे चरण में 29 अप्रैल को होगा। सभी चरणों में सुबह 7 बजे से शाम छह बजे तक वोटिंग होगी। मतगणना दो मई को होगी। राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार ने शुक्रवार को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी कर दी। इसके साथ ही पूरे प्रदेश में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है।

निर्वाचन आयुक्त ने बताया कि जिला निर्वाचन अधिकारी जिले में चुनाव की अधिसूचना 26 मार्च को ही जारी कर इसकी सूचना आयोग को भेजेंगे। ग्राम पंचायत के प्रधान, सदस्यों, क्षेत्र पंचायत के सदस्यों एवं जिला पंचायत के सदस्यों के स्थानों एवं पदों पर चुनाव के लिए प्रादेशिक निर्वाचन क्षेत्रों का विवरण देते हुए निर्वाचन अधिकारी (पंचायत) की ओर से 27 मार्च को अधिसूचना जारी की जाएगी। उन्होंने बताया कि नामांकन प्रक्रिया के दौरान सार्वजनिक अवकाशों में भी संबंधित दफ्तर खुले रहेंगे और चुनाव कार्यक्रम के अनुसार कार्यवाही को पूरा करेंगे।

पहले ही हो चुकी देर

‘कोरोना संक्रमण के कारण पंचायत चुनाव में पहले ही करीब चार महीने का विलंब हो चुका है। समय कम होने के कारण 26 अप्रैल को ही अधिसूचना जारी की जा रही है।’
– मनोज कुमार, राज्य निर्वाचन आयुक्त

कब किस जिले में होगा चुनाव, जानें सब कुछ
पहला चरण
15 अप्रैल को 18 जिलों में

नामांकन : 3 से 4 अप्रैल तक, सुबह 8 से शाम 5 बजे तक
नामांकन पत्रों की जांच : 5-6 अप्रैल, सुबह आठ बजे तक
नामांकन वापसी : 7 अप्रैल को सुबह 8 से दोपहर 3 बजे तक
चुनाव चिह्न आवंटन : 7 अप्रैल को दोपहर 3 बजे से
जिले – सहारनपुर, गाजियाबाद, रामपुर, बरेली, हाथरस, आगरा, कानपुर नगर, झांसी, महोबा, प्रयागराज, रायबरेली, हरदोई, अयोध्या, श्रावस्ती, संतकबीरनगर, गोरखपुर, जौनपुर, भदोही।

दूसरा चरण
19 अप्रैल को 20 जिलों में

नामांकन : 7-8 अप्रैल
नामांकन पत्रों की जांच : 9-10 अप्रैल
नामांकन वापसी :11 अप्रैल
चुनाव चिह्न आवंटन : 11 अप्रैल
जिले – मुजफ्फरनगर, बागपत, गौतमबुद्धनगर, बिजनौर, अमरोहा, बदायूं, एटा, मैनपुरी, कन्नौज, इटावा, ललितपुर, चित्रकूट, प्रतापगढ़, लखनऊ, लखीमपुर खीरी, सुल्तानपुर, गोंडा, महराजगंज, वाराणसी और आजमगढ़।

तीसरा चरण
26 अप्रैल को 20 जिलों में

नामांकन : 13 एवं 15 अप्रैल
नामांकन पत्रों की जांच : 16-17 अप्रैल
नाम वापसी : 18 अप्रैल
चुनाव चिह्न आवंटन : 18 अप्रैल
जिले – शामली, मेरठ, मुरादाबाद, पीलीभीत, कासगंज, फिरोजाबाद, औरेया, कानपुर देहात, जालौन, हमीरपुर, फतेहपुर, उन्नाव, अमेठी, बाराबंकी, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, देवरिया, चंदौली, मिर्जापुर, बलिया।

चौथा चरण
29 अप्रैल को 17 जिलों में

नामांकन : 17-18 अप्रैल
नामांकन पत्रों की जांच : 19-20 अप्रैल
नाम वापसी : 21 अप्रैल
चुनाव चिह्न आवंटन : 21 अप्रैल
जिले- बुलंदशहर, हापुड़, संभल, शाहजहांपुर, अलीगढ़, मथुरा, फर्रुखाबाद, बांदा, कौशांबी, सीतापुर, अंबेडकरनगर, बहराइच, बस्ती, कुशीनगर, गाजीपुर, सोनभद्र और मऊ।

कहां होगी नामांकन से जुड़ी कार्यवाही
– ग्राम पंचायत के प्रधान, सदस्य और क्षेत्र पंचायत के सदस्यों के चुनाव के लिए नामांकन पत्र बिक्री, नामांकन से जुड़ी कार्यवाही विकासखंड मुख्यालय पर की जाएगी।
– जिला पंचायत सदस्यों के नामांकन की कार्यवाही जिला मुख्यालय पर की जाएगी। ग्राम पंचायत के प्रधानों और सदस्यों के चुनाव की मतगणना विकासखंड में निर्धारित स्थल पर होगी।
जिला पंचायत सदस्यों के चुनाव की मतगणना विकासखंड स्तर पर बने मतगणना केंद्र में होगी, लेकिन परिणाम की घोषणा जिला पंचायत मुख्यालय स्तर पर की जाएगी।

फैक्ट फाइल
ग्राम पंचायत : 58,189
ग्राम पंचायत के वार्ड : 7, 32, 563
क्षेत्र पंचायत : 826
क्षेत्र पंचायत के वार्ड : 75, 855
जिला पंचायत : 75
जिला पंचायत के वार्ड : 3051

मतदान केंद्र : 80,762
मतदान स्थल : 2,03,050
मतदाता :12.39 करोड़
पुरुष : 53.01 प्रतिशत, महिला : 46.99 प्रतिशत
ईपिक औसत – 67.45 प्रतिशत(कुल आबादी के मुकाबले मतदाता)

इन ग्राम पंचायतों में नहीं होगा चुनाव
राज्य निर्वाचन आयुक्त ने बताया कि सीतापुर की कैमहरा रघुरवदयाल, भटपुरवा, राईपैडहिया, बहराइच की कपूरपुर ग्राम पंचायत का कार्यकाल पूरा नहीं होने के कारण वहां चुनाव नहीं कराया जाएगा। इसी प्रकार गोंडा की बहादुरा, खानपुर, सरावां, जलालपुर, बल्लीपुर, मोहनरपुर, साहिबापुर, परसिया और रामपुर खरहटा ग्राम पंचायत का कार्यकाल पूरा नहीं होने के कारण वहां चुनाव नहीं कराया जाएगा।

Previous articleUP पंचायत चुनाव Live Update: चुनाव की तारीखों का ऐलान, जानें कब घोषित होगा परिणाम
Next articleपंचायत चुनाव 2021: प्रधानी की हर सीट पर पांच से आठ दावेदार, नामांकन पत्र खरीदने के लिए लगी रही लंबी लाइन