कुशीनगर के सिपाही की पिटाई के मामले में तीन दोषी निलंबित, इनमें से एक थाना लाइन का आरआई

785

मुख्यमंत्री के आने पर सेवरही में उसे वीआईपी ड्यूटी के लिए भेजा गया था। वहां जाने पर पता चला कि उसकी ड्यूटी नहीं थी। खुद के आग्रह पर ड्यूटी करके लौटा था।

कुशीनगर जिले में बंद कमरे में सिपाही की पिटाई के मामले में एसपी ने पुलिस लाइन के आरआई (रिजर्व निरीक्षक) और दो अन्य पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया। सिपाही ने अनावश्यक रूप से ड्यूटी लगाए जाने का विरोध किया था।

मामले की जांच कर रहे सीओ कसया पीयूष कांत राय ने बताया कि पुलिस लाइन में तैनात कांस्टेबल देवेंद्र चौरसिया ने पुलिस लाइन के आरआई और दो अन्य पुलिसकर्मियों पर 12 सितंबर को बंद कमरे में पिटाई करने का आरोप लगाया था। सिपाही का कहना था कि मुख्यमंत्री के आने पर सेवरही में उसे वीआईपी ड्यूटी के लिए भेजा गया था। वहां जाने पर पता चला कि उसकी ड्यूटी नहीं थी। खुद के आग्रह पर ड्यूटी करके लौटा था।

आरोप है कि इस बारे में पूछने पर उसकी बेरहमी से पिटाई की गई। उसे अस्पताल में इलाज कराना पड़ा। एसपी के निर्देश पर मामले की जांच सीओ कसया को सौंपी गई थी। सीओ ने जांच कर अपनी रिपोर्ट एसपी को भेजी। इसके बाद यह कार्रवाई की गई है।

एसपी सचिंद्र पटेल ने बताया कि इस मामले में दोषी मिलने पर आरआई ओमप्रकाश यादव, हेड कांस्टेबल सेचू यादव और कांस्टेबल शिवकुमार यादव को निलंबित कर दिया गया।

Previous articleराज कुंद्रा के खिलाफ तैयार हुई चार्जशीट, पत्नी शिल्पा शेट्टी का छलका दर्द, कहा – कुछ गलत निर्णय लिए
Next articleसिम कार्ड लेने के नियमों में हुआ बदलाव, यूजर्स पर पड़ेगा सीधा असर