Gorakhpur आने वाले 5वें राष्ट्रपति हैं रामनाथ कोविंद

862
Ramnath Kovind is the 5th President to visit Gorakhpur
Ramnath Kovind is the 5th President to visit Gorakhpur

राष्‍ट्रपति रामना‍थ कोविंद (Ram Nath Kovind) 4 जून को दो दिवसीय प्रवास पर गोरखपुर (Gorakhpur) आ रहे हैं. वे विश्‍व प्रसिद्ध गीता प्रेस (Gitapress) जाने वाले दूसरे राष्ट्रपति होंगे।

Gorakhpur: राष्‍ट्रपति रामना‍थ कोविंद (Ram Nath Kovind) 4 जून को दो दिवसीय प्रवास पर गोरखपुर (Gorakhpur) आ रहे हैं. वे विश्‍व प्रसिद्ध गीता प्रेस (Gitapress) के शताब्‍दी वर्ष समारोह का शुभारम्‍भ करेंगे. इस दौरान वे गोरखनाथ मंदिर (Gorakhnath Temple) में दर्शन करने भी जाएंगे. देर शाम वे बच्‍चों के साथ गोरखपुर के मिनी जुहू चौपाटी कहे जाने वाले रामगढ़ताल पर खूबसूरत छटा को बच्‍चों के साथ लाइट और साउंउ शो के बीच निहारेंगे.

इस दौरान राष्‍ट्रपति के स्‍वागत के लिए राज्‍यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ भी मौजूद रहेंगे. उनके आगमन की तैयारियों में गोरखपुर का जिला प्रशासन युद्ध स्‍तर पर तैयारियों में जुटा है.

क्या बोले गीता प्रेस के प्रबंधक?

गोरखपुर के सर्किट हाउस से लेकर गीता प्रेस तक चाक-चौबंद सुरक्षा व्‍यवस्‍था की गई है. राष्‍ट्रपति के आगमन से लेकर उनके जाने तक नो-फ्लाइंग जोन रहेगा. वे गीता प्रेस जाएंगे. वहां पर वे सवा घंटे तक रहेंगे. उनके आगमन को लेकर भव्‍य पंडाल जर्मन हैंगर लगाया गया है. इस दौरान वे लीला चित्र मंदिर का अवलोकन भी करेंगे. इसके अलावा लोगों को उनका संबोधन सुनने का अवसर भी मिलेगा.

गीता प्रेस के प्रबंधक डा. लालमणि तिवारी ने बताया कि राष्‍ट्रपति के गीता प्रेस के कार्यक्रम में 350 गणमान्य लोगों के बैठने की व्‍यवस्‍था की गई है. यहां से अब तक कल्‍याण पत्रिका को जोड़कर 1800 तरह की 90 करोड़ से अधिक धार्मिक पुस्तकें 15 भाषाओं में छप चुकी हैं. राष्‍ट्रपति चित्रमयी ‘श्रीरामचरितमानस’ और गीता प्रेस के संस्थापक जय दयाल गोयनका द्वारा लिखी गीता पर टीका ‘तत्‍व विवेचनी’ के परिवर्धित संस्करण का लोकार्पण करेंगे.

ये राष्ट्रपति जा चुके हैं गीता प्रेस

गोरखपुर स्थित गीता प्रेस आने वाले वे दूसरे राष्‍ट्रपति हैं. इसके पहले देश के पहले राष्‍ट्रपति डा. राजेन्‍द्र प्रसाद 1955 में गोरखपुर के गीता प्रेस आए थे. बतौर राष्‍ट्रपति गोरखपुर आने वाले पांचवें राष्‍ट्रपति होंगे. इससे पहले बतौर राष्‍ट्रपति डा. राजेन्‍द्र प्रसार, सर्वपल्‍ली डा. राधाकृष्‍णन, प्रतिभा पाटिल और एपीजे अब्‍दुल कलाम गोरखपुर आ चुके हैं.

इसके पहले राष्‍ट्रपति डा. राजेन्‍द्र प्रसाद और सर्वपल्‍ली डा. राधाकृष्‍णन गोरखनाथ मंदिर में दर्शन करने जा चुके हैं. गोरखपुर के जिलाधिकारी विजय किरण आनंद ने बताया कि राष्‍ट्रपति के आगमन को लेकर तैयारियां अंतिम चरण में है. गीता प्रेस से लेकर सर्किट हाउस और गोरखनाथ मंदिर तक सुरक्षा के भी व्‍यापक इंतजाम किए गए हैं.

World Famous Geeta Press
World Famous Geeta Press

शाम को गीता प्रेस में होगा कार्यक्रम

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद 4 जून को मध्‍याह्न 12 बजे राजकीय विमान से गोरखपुर पहुंचेंगे. यहां पर राज्‍यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ उनका स्‍वागत करेंगे. 12 बजकर 15 मिनट पर वे विश्राम के लिए सर्किट हाउस पहुंचेंगे. शाम 4 बजकर 45 बजे वे सर्किट हाउस से गीता प्रेस के लिए प्रस्‍थान करेंगे.

5 बजे वे गीता प्रेस पहुंचेंगे. 6 बजे वे गीता प्रेस से गोरखनाथ मंदिर के लिए प्रस्‍थान करेंगे. शाम 7 बजे वे गोरखनाथ मंदिर से सर्किट हाउस के लिए प्रस्‍थान करेंगे. 7 बजकर 15 मिनट पर वे रामगढ़ताल के नया सवेरा पर बच्‍चों के साथ लाइट एण्‍ड साउंड शो देखेंगे. इसके बाद सर्किट हाउस में रात्रि विश्राम करेंगे.

20 घंटे रहेंगे गोरखपुर

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद 20 मिनट तक गीता प्रेस में कार्यक्रम को संबोधित करेंगे. लीला चित्र मंदिर का 24 मिनट अवलोकन करेंगे. इस दौरान उनका ट्रस्टियों और गणमान्‍य लोगों द्वारा सम्‍मान भी होगा. राष्‍ट्रपति की रामगढ़ताल में सैर के लिए विशेष बोट को तैयार किया जा रहा है. इसके अलावा शहर को चमकाने का काम भी युद्ध स्‍तर पर हो रहा है. इस दौरान राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद 20 घंटे गोरखपुर में रहेंगे. गीता प्रेस के चारों तरफ उनकी सुरक्षा को देखते हुए सुरक्षा घेरा बनाया जाएगा. लीला चित्र मंदिर को फूलों से सजाया जा रहा है. लीला चित्र मंदिर में वे देवी-देवताओं के ऐतिहासिक महत्‍व के चि‍त्रों के दर्शन भी करेंगे.

राष्ट्रपति का तीसरा दौरा

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद का ये गोरखपुर का तीसरा दौरा है. इसके पहले वे 10 दिसंबर 2018 को महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के संस्‍थापक सप्‍ताह समारोह में बतौर मुख्‍य अतिथि सम्मिलित हुए थे. यहां से उन्‍होंने गोरखनाथ मंदिर जाकर गुरु गोरखनाथ की आराधना की थी. उनका गोरखपुर आगमन 28 अगस्‍त 2021 को भी हुआ था.

उस समय उन्‍होंने गुरु गोरखनाथ आयुष विश्‍वविद्यालय और महायोगी गोरखनाथ विश्‍वविद्यालय का लोकार्पण किया था. अब 4 जून को वे तीसरी बार गोरखपुर पहुंच रहे हैं. वे आजादी के बाद से अब तक तीन बार गोरखपुर आने वाले पहले राष्‍ट्रपति होंगे. इसके साथ ही गोरखनाथ मंदिर और कबीर स्थली एक साथ जाने वाले भी पहले राष्‍ट्रपति होंगे.

क्या बोले नगर आयुक्त?

गोरखपुर के नगर आयुक्‍त अविनाश सिंह ने बताया कि शहर के सुंदरीकरण का काम अंतिम चरण में है. सड़कों को दुरस्‍त करने के साथ शहर को सजाया जा रहा है. इसके साथ ही साफ-सफाई के भी व्‍यापक इंतजाम किए गए हैं. गोरखपुर के एसपी सिटी कृष्‍ण कुमार विश्‍नोई ने रामगढ़ताल स्थित नया सवेरा का निरीक्षण किया. यहां पर राष्‍ट्रपति 4 जून की शाम 7.15 बजे लाइट एंड साउंड शो का बच्‍चों के साथ आनंद लेंगे.

इसके साथ ही विशेष बोट में रामगढ़ताल की सैर भी करेंगे. उनकी सुरक्षा को देखते हुए चाक-चौबंद इंतजाम किए जा रहे हैं. एसपी ट्रैफिक डा. एमपी सिंह ने बताया कि शहर की यातायात व्‍यवस्‍था को इस तरह से डायवर्ट किया जाएगा, जिससे राष्‍ट्रपति के आगमन के दौरान किसी को किसी तरह की कोई दिक्‍कत नहीं होने पाए.

source: abplive.com

और भी खबरों को पढ़ने के लिए हमें गूगल न्यूज (Google News) पर फॉलो करें

Previous articleIND vs SA T20 Series: आईपीएल 2022 के दोस्त दक्षिण अफ्रीका सीरीज के दौरान बनेंगे दुश्मन, सीरीज में एक-दूसरे के खिलाफ खेलेंगे मुकाबला
Next articleKushinagar News: भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी पेयजल योजना, 300 करोड़ के टैंक बना शो पीस