कुशीनगर में कोरोना से तीन की मौत, 94 मिले पाजिटिव

1094

कुशीनगर : जनपद में कोरोना संक्रमण तेजी से पांव पसार रहा है। लगातार बढ़ रहे संक्रमितों की संख्या से नगरीय व ग्रामीण क्षेत्रों में लोग सहमे हुए हैं। रविवार को गोरखपुर मेडिकल कालेज से मिली 1673 लोगों की जांच रिपोर्ट में 1579 निगेटिव व 94 कोरोना पाजिटिव मिले। एक्टिव केस की संख्या 657 हो गई है तो 62 स्वस्थ लोगों को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। तीन लोगों की मौत हो गई।

शनिवार को जिला अस्पताल से गोरखपुर के लिए रेफर खड्डा के बेलवनिया निवासिनी 45 वर्षीय पूनम देवी की रास्ते में मौत हो गई तो नगरपालिका परिषद कुशीनगर के बुद्धनगरी वार्ड(विशुनपुरा) निवासी प्रधानाचार्य 53 वर्षीय कमलेश प्रताप सिंह का निधन शनिवार की देर रात गोरखपुर स्थित निजी अस्पताल में हो गया। कसया के अमियनगर वार्ड निवासी 36 वर्षीय आरिफ की मौत हो गई। वह होम आइसोलेशन में थे। मृतकों की संख्या 73 से बढ़ कर 76 हो गई है। सीएमओ डा.एनपी गुप्ता ने बताया कि मरने वालों की सूची अभी पोर्टल पर अपलोड नहीं हुई है। बताया कि कोरोना संक्रमितों में विशुनपुरा के नौ, पडरौना के 24, सेवरही के सात, सुकरौली के एक,कुबेरनाथ दो,तमकुही के छह, कसया के सात व खड्डा के नौ, रामकोला के दो, फाजिलनगर के छह, दुदही के दो, कप्तानगंज के तीन, हाटा के चार अन्य क्षेत्र के 12 व्यक्ति शामिल हैं। जिले में अब तक कुल 109 कंटेनमेंट जोन बनाए जा चुके हैं। अब तक 6672 संक्रमितों में से 5950 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। संक्रमितों का इलाज जिला अस्पताल व मेडिकल कालेज गोरखपुर व होम क्वारंटाइन में चल रहा है। नगरीय व ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रमितों के घरों को सील कर सैनिटाइज कराया गया है। उन्हें घर में रहने की सख्त हिदायत दी गई। निगरानी समितियों से उनकी गतिविधि पर नजर रखने को कहा गया है। दूसरी ओर डीएम के निर्देश पर नगर के सेंट्रल बैंक रोड मोहल्ले में एक दर्जन से अधिक लोगों के पाजिटिव मिलने पर राजस्व विभाग की ओर से लेखपाल योंगेंद्र गुप्ता व उनकी टीम ने गली को सील करते हुए लोगों से घरों में रहने की सलाह दी। नगर क्षेत्र में कुल 24 कंटेंमेंट जोन बनाया गया है।

कोविड-19 प्रोटोकाल का कड़ाई से पालन कराएं दुकानदार:डीएम

डीएम एस राजलिगम ने कहा कि कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करके ही कोरोना से जिले को मुक्त किया जा सकता है। उन्होंने सदर तहसील क्षेत्र स्थित मार्केट के सभी रेस्टोरेंट,होटल संचालक,माल संचालकों,बड़े दुकानदारों आदि को निर्देशित किया कि वह अपने कार्य संस्थान पर कोविड-19 हेल्प डेस्क स्थापित करें। लाउडस्पीकर से लोगों में जागरूकता पैदा करें।

18 दिन में बढ़ गए 908 संक्रमित

एक अप्रैल से अब तक कुल 908 लोग संक्रमित पाए गए हैं। इसमें छह, 10 व 12 वर्ष के तीन बच्चों के अलावा युवकों की संख्या 150 से अधिक युवक है तो बाकी अधेड़ व बुजुर्ग शामिल हैं अर्थात उस समय संक्रमितों की संख्या 5764 थी जो बढ़कर अब 6672 हो गई है। डिस्चार्ज होने वालों की संख्या उस समय 5677 रही जो अब 5950 है। मरने वालों की संख्या 62 से 75 पहुंच गई है यानि 13 बढ़ी है।

सिद्धार्थनगर में तैनात थे प्रधानाचार्य

नगरपालिका परिषद कुशीनगर के बुद्धनगरी वार्ड(विशुनपुरा) निवासी प्रधानाचार्य कमलेश प्रताप सिंह जनता इंटर कालेज, तुर्कवलिया (सिद्धार्थनगर) में प्रधानाचार्य पद पर कार्यरत थे।

यह बरतें सावधानी

– दिन में कई बार साबुन या हैंडवाश से हाथ धोएं, जिनमें सर्दी या फ्लू जैसे लक्षण हों, उनके करीब न जाएं, पर्याप्त मात्रा में लिक्विड व पोषक तत्व लें, खाने में दही का इस्तेमाल जरूर करें, छींकते या खांसते समय अपने बाजू का इस्तेमाल करें। घर का बाथरूम साफ रखें।

इनसे करें परहेज

गंदे हाथों से आंख, नाक, मुंह न छूएं, किसी के गले न लगें और न ही हाथ मिलाएं, सार्वजनिक स्थानों पर न थूंके, इस्तेमाल किए टिश्यू पेपर, नैपकिन खुले स्थान पर न फेंकें, सार्वजनिक स्थानों पर स्मोकिग न करें।

Previous articleडायबिटीज को खुद से रखना है दूर, अपनाएं यह आसान टिप्स
Next articleसंकट में यूरोपियन सुपर लीग, इंग्लिश प्रीमियर लीग के 6 क्लबों ने किया अलग होने का ऐलान