ऑक्सफैम ने कहा- कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में एक नया अरबपति बनाया, गरीबी को लेकर जताया चौंकाने वाला अनुमान

555
Covid pandemic creates a new billionaire every 30 hours
ऑक्सफैम ने कहा- कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में एक नया अरबपति बनाया

Every 30 hours New Billionaire: ऑक्सफैम ने दावोस शिखर सम्मेलन में बताया कि कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में एक नया अरबपति बनाया है। इसके साथ ही ऑक्सफैम ने गरीबी को लेकर जो अनुमान लगाए हैं वह चौंकाने वाले हैं। ऑक्सफैम ने कहा है कि 26.3 करोड़ लोग अत्‍यधिक गरीबी में डूब जाएंगे।

Every 30 hours New Billionaire: विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक बैठक 2022 (दावोस शिखर सम्मेलन) का आयोजन हुआ, जिसमें दुनिया भर से अमीर और शक्तिशाली देश इकट्ठा हुए। इस बैठक में ऑक्सफैम ने सोमवार को कहा कि कोरोना महामारी (कोविड महामारी) के दौरान हर 30 घंटे में एक नए अरबपति को उभरते हुए देखा गया है। यह बात कहते हुए ऑक्सफैम ने कहा कि अब वह समय आ गया है जब कम कम भाग्‍यशाली लोगों का समर्थन करने के लिए अमीरों पर टैक्‍स लगाना चाहिए।

इसके साथ ही ऑक्सफैम ने आशंका जताते हुए बताया कि इस साल 26.3 करोड़ लोग अत्‍यधिक गरीब हो जाएंगे, जिसमें ऑक्सफैम के आकड़ो के मुताबिक दुनिया भर में हर 33 घंटे में 10 लाख लोग गरीब हो जाएंगे। वहीं ऑक्सफैम की कार्यकारी निदेशक गैब्रिएला बुचर ने अपने एक बयान में कहा कि अरबपति और अच्छी किस्मत वाले अविश्वसनीय उछाल का जश्न मनाने के लिए दावोस पहुंच रहे हैं।
Kovid epidemic created a new billionaire every 30 hours, expressed shocking estimates about poverty
कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में एक नया अरबपति बनाया, गरीबी को लेकर जताया चौंकाने वाला अनुमान

अमीरो ने एक चौंकाने वाली राशि पर किया कब्जा

ऑक्सफैम इंटरनेशनल के कार्यकारी निदेशक गैब्रिएला बुचर ने कहा कि महामारी और अब ऊर्जा व भोजन की बढ़ती कीमते सीधे तौर पर अमीरों के वरदान बन गई है। इसके साथ ही आगे गैब्रिएला बुचर ने कहा लाखों लोग केवल जीवित रहने के लिए लागत में असंभव वृद्धि का सामना कर रहे हैं। गैब्रिएला बुचर के अनुसार निजीकरण के परिणामस्वरूप दुनिया की संपत्ति में अमीरो ने एक चौंकाने वाली राशि पर कब्जा किया है। सुपर रिच लोग दशकों से सिस्टम में धांधली कर उसका लाभ उठा रहे हैं, जो सभी सरकारों की मिलीभगत के साथ हो रहा है।

मानवता के बंधनों को तोड़ रही बड़ी असमानता

ऑक्सफैम के अनुसार पूर्वी अफ्रीका में हर एक मिनट एक व्यक्ति भूख से मर रहा है। ये बहुत बड़ी असमानता है जो मानवता के बंधनों को तोड़ रही है। ये असमानता लोगों को मार देगी। इसके साथ ही मजदूरी करने वालों के सामने मुश्किले बढ़ी है और अब कोरोना के बाद श्रमिक दशकों की उच्च कीमतों के साथ संघर्ष कर रहे हैं।
Previous articleIPL 2022 Playoff: प्लेऑफ में बारिश से पड़ सकता है व्यवधान, इस स्थिति में सुपर ओवर तय करेगा विजेता
Next articleShilpi Raj MMS Viral Video Download Start: व्हाट्सएप से करें शिल्पी राज वायरल वीडियो को डाउनलोड