संकट में यूरोपियन सुपर लीग, इंग्लिश प्रीमियर लीग के 6 क्लबों ने किया अलग होने का ऐलान

817

रिपोर्ट के अनुसार, सुपर लीग ने एक बयान जारी कर कहा है कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए इस परियोजना को फिर से शुरू करने के लिए उपयुक्त कदमों पर पुनर्विचार करेंगे।

यूरोपियन सुपर लीग को लेकर विवाद बढ़ने लगा है। अब इंग्लिश प्रीमियर लीग के छह क्लबों आर्सेनल, चेल्सी लिवरपूलए मैनचेस्टर सिटीए मैनचेस्टर यूनाइटेड और टॉटेनहम हॉटस्पर क्लबों ने यूरोपियन सुपर लीग से हटने का ऐलान किया है। अब ईपीएल के इन 6 क्लबों के यूरोपियन लीग से हटने के बाद अब यूरोपियन सुपर लीग ने घोषणा की कि इस परियोजना को फिर से शुरू करने के लिए कदम उठाए जाएंगे। रिपोर्ट के अनुसार, सुपर लीग ने एक बयान जारी कर कहा है कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए इस परियोजना को फिर से शुरू करने के लिए उपयुक्त कदमों पर पुनर्विचार करेंगे।

फुटबॉल पिरामिड के लिए संसाधन जुटाना मकसद

बता दें कि 20 टीमों को लेकर हाल ही यूरोपीय सुपर लीग का ऐलान किया गया था। वहीं ईपीएल के 6 क्लबों के हटने के बाद भी यूरोपीय सुपर लीग का कहना है कि इस लीग को बनाने का उद्देश्य पूरे फुटबॉल पिरामिड के लिए संसाधनों और स्थिरता पैदा करते हुए खेल को विकसित करने की अनुमति देना है। साथ ही बयान में कहा गया कि महामारी के परिणामस्वरूप पूरे फुटबॉल समुदाय द्वारा अनुभव की गई वित्तीय कठिनाइयों को दूर करने में मदद करना भी इस लीग का मकसद है।

सबसे पहले मैनचेस्टर सिटी हटी

बता दें कि इंग्लैंड, स्पेन और इटली की कुल 12 शीर्ष यूरोपीय टीमों ने इसी सप्ताह घोषणा की थी कि वे अपनी लीग बनना चाहते हैं। इसमें 15 स्थायी सदस्यों के साथ 20 टीमें शामिल थीं। इस बीच मंगलवार को मैनचेस्टर सिटी ने इस लीग से हटने का फैसला किया। मैनचेस्टर सिटी ने औपचारिक रूप से पुष्टि की थी कि वो इस लीग से हट रही है।

जेम्स मिलनर भी यूरोपियन लीग के खिलाफ

मैनचेस्टर सिटी के अलावा अन्य पांच क्लबों लिवरपूल एफसीए मैनचेस्टर यूनाइटेड, टोटेनहम हॉटस्पर, आर्सेनल एफसी और चेल्सी ने भी यूरोपियन लीग से हटने का ऐलान किया है। वहीं चर्चा है कि बार्सिलोना और एटलेटिको मैड्रिड भी इस लीग से खुद को अलग कर सकती है। बताया जा रहा है कि प्रीमियर लीग के 14 क्लब यूरोपियन सुपर लीग में शामिल होने के इच्छुक नहीं है। वहीं लिवरपूल के मिडफील्डर जेम्स मिलनर भी यूरोपियन सुपर लीग बनाने के फैसले के खिलाफ हैं। उन्होंने कहा है कि खिलाड़ियों का अपने उस फैसले पर कोई नियंत्रण नहीं है जोकि फुटबॉल का चेहरा बदल सकता है।

Previous articleकुशीनगर में कोरोना से तीन की मौत, 94 मिले पाजिटिव
Next articleRCB vs RR Live streaming, IPL 2021 LIVE: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर बनाम राजस्थान रॉयल्स का मैच Airtel और Jio पर मुफ्त में लाइव कैसे देखें